FAQ CIL

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के रसायन प्रभाग द्वारा कौन से नमूनों का विश्लेषण किया जाता है ?

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला का रसायन प्रभाग न्यायालय द्वारा, कीटनाशी अधिनियम, 1968 के तहत अधिसूचित केन्द्र और राज्य सरकार के कीटनाशक निरीक्षकों द्वारा और अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा और इसके साथ-साथ नमूनों के पंजीकरण पूर्व सत्यापन के लिए केन्द्रीय कीटनाशी बोर्ड एवं पंजीकरण समिति द्वारा भेजे गए नाशीजीव नाशकों/कीटनाशकों के नमूनों का विश्लेषण करता है।

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के जैव प्रभाग द्वारा कौन से नमूनों का विश्लेषण किया जाता है

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के जैव प्रभाग द्वारा न्यायालय द्वारा, कीटनाशी अधिनियम, 1968 के तहत अधिसूचित केन्द्र और राज्य सरकार के कीटनाशक निरीक्षकों द्वारा और अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा और इसके साथ-साथ नमूनों के पंजीकरण पूर्व सत्यापन के लिए केन्द्रीय कीटनाशी बोर्ड एवं पंजीकरण समिति द्वारा भेजे गए कीटनाशकों, खरपतवारनाशकों, फंगीनाशकों, शाकनाशकों और जैव-कीटनाशकों के नमूनों का विश्लेषण करता है।

चिकित्सा विषविज्ञान प्रभाग का कार्यक्षेत्र क्या है ?

विभिन्न उपाय अपनाकर जैसे कि छोटे प्रयोगशाला जीवों (चूहों) पर विषाक्तता परीक्षण करके, कीटनाशकों के सुरक्षित प्रयोग के बारे में लोगों को जागरुक करके, कीटनाशकों से विषाक्तता के मामलों का पता लगाकर और सरकार को सूचना उपलब्ध कराकर मनुष्य और पर्यावरण पर कीटनाशकों का सुरक्षा मूल्यांकन करना।

वर्तमान में चिकित्साा विषविज्ञान प्रभाग द्वारा क्या् कार्य किए जा रहे हैं ?

(i) विस्टर अल्बीनो रैट्स पर तीव्र मुखीय/त्वचीय LD-50 विषाक्तूता अध्ययन करके कीटनाशकों की विषाक्तता का मूल्यांकन करना।
(ii) कीटनाशकों के सुरक्षित और विवेकपूर्ण प्रयोग के बारे में किसानों को खेतों में प्रशिक्षण प्रदान करना।
(iii) विस्टर अल्बीनो रैट्स के पशुघर का रख रखाव करना। विषाक्तता अध्ययन के लिए इन चूहों की देखभाल की जाती है, प्रजनन किया जाता है और फिर अध्ययन हेतु सौंपा जाता है।

संवेष्ट्न एवं परिसंस्करण प्रभाग द्वारा कौन-से नमूनों का विश्लेषण किया जाता है?

संवेष्ट्न एवं परिसंस्क‍रण प्रभाग लेबल दावों, लीफलेट और पैकेजिंग के सत्यापन के लिए कीटनाशी अधिनियम, 1968 के नियम 5(ग) के तहत अधिसूचित राज्य कीटनाशक निरीक्षकों या राज्य कृषि विभाग द्वारा भेजे गए नमूनों का विश्लेषण करता है।

क्या केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के जैव प्रभाग में अपंजीकृत जैव-कीटनाशकों का विश्लेषण किया जाना संभव है ?

नहीं। केवल पंजीकृत जैव-कीटनाशकों का ही विश्लेलषण किया जाता है।

क्या केन्द्रीय कीटनाशक निरीक्षकों द्वारा लिए गए जैव कीटनाशकों के नमूने विश्लेषण के लिए सीधे केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला भेजे जा सकते हैं ?

हां, ये सीधे ही निदेशक, केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला, वनस्पतति संरक्षण, संगरोध एवं संग्रह निदेशालय, एन.एच.-4, फरीदाबाद-121001 (हरियाणा) को भेजे जा सकते हैं।

विश्लेैषण के लिए परीक्षण शुल्क के भुगतान का तरीका क्याा है ?

विश्लेैषण के लिए शुल्क का भुगतान केवल ऑनलाइन ट्रांसफर तरीके (NEFT/RTGS) से ही निम्नलिखित विवरण के अनुसार किया जा सकता है:
खाता का नाम: भुगतान एवं लेखा अधिकारी
बैंक का नाम: भारतीय स्टेट बैंक
खाता संख्या . 30104398045
IFSC कोड: SBIN0000734
MICR कोड: 110002195
नकदी, चैक, मनीआर्डर या डिमांड ड्राफ्ट के रूप में कोई भी भुगतान स्वीकार नहीं किया जाता है।

कीटनाशक अणुओं के विश्लेषण के लिए भुगतान किए जाने वाले शुल्क की राशि क्या‍ है ?

कीटनाशी नियम, 1971 की दूसरी अनुसूची से ‘’कीटनाशक के नमूनों के परीक्षण या विश्लेषण के लिए शुल्क‘’ शीर्षक के तहत अपेक्षित शुल्क का विवरण देखा जा सकता है।

विश्लेषण के लिए कीटनाशकों के नमूने भेजते समय उसके साथ कौन-कौन से दस्ताावेज केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला को भेजने होते हैं ?

विश्लेषण के लिए नमूना भेजते समय उसके साथ विधिवत रूप से भरा हुआ फार्म XXI भेजा जाता है जिसमें फार्मुलेशन का तकनीकी नाम, बैच नं., विनिर्माण की तारीख, प्रयोग की समाप्ति की (अंतिम) तारीख, नमूना लेने की तारीख, कोड नं./पहचान चिह्न और पैकिंग की स्थिेति (अर्थात् ये मूल पैकिंग में हैं या खुले हैं) नमूनों की मात्रा/परिमाण आदि की सूचना दी जाती है।

कवर पत्र (सहपत्र)/सूचना पर्ची पर स्पष्ट रूप से लिखा होना चाहिए कि क्या नमूना पहली बार विश्लेषण के लिए भेजा जा रहा है या पुन: विश्लेषण के लिए है और उस पर भेजने वाले का पूरा विवरण जैसे कि पूरा नाम, पदनाम, पूरा डाक पता (जिला,तालुका/जिला विवरण आदि, पिन कोड सहित, राज्य का नाम आदि) सम्पर्क नं. और/या ई-मेल आई.डी. तथा किए गए भुगतान का विवरण (UTR No., तारीख और राशि) आदि स्पष्ट रूप से लिखे होने चाहिए।

नमूने उचित रूप से पैक और सील करके भेजे जाने चाहिए। कीटनाशी निरीक्षक, कृषि अधिकारी या किसी अन्य संबंधित अधिकारी की सील के बिना केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला को भेजे गए नमूनों को स्वीेकार नहीं किया जाएगा और न ही उनका विश्लेषण किया जाएगा।
इसके अलावा, नमूने के प्रयोग की समाप्ति की तारीख के बाद प्राप्त नमूनों को स्वीकार नहीं किया जाएगा और न ही उनका विश्लेषण किया जाएगा।
PRV 9(3), 9(4), टी.आई.एम./टी.आई./एफ.आई के लिए निम्निलिखित चीजें स्पष्ट( रूप से लिखी होनी चाहिए:
1. विश्लेषण का तरीका
2. विशिष्टि‍यों का विवरण
3. विधिवत रूप से हस्ताक्षर किया हुआ पत्र
4. कवर पत्र पर नमूने के विनिर्माण की तारीख, प्रयोग की समाप्ति् की तारीख, प्रयोग की फार्मुलेशन की क्ववालिटी, परिमाण आदि लिखे होने चाहिए।
नमूने उचित रूप से पैक और सील करके भेजे जाने चाहिए। कीटनाशी निरीक्षक, कृषि अधिकारी या किसी अन्ये संबंधित अधिकारी की सील के बिना केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला को भेजे गए नमूनों को स्वीेकार नहीं किया जाएगा और न ही उनका विश्लेषण किया जाएगा।

Pages