केंद्रीय कीटनाशक प्रयोगशाला

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला की स्थापना कीटनाशी अधिनियम, 1968 की धारा 16 के तहत की गई थी जिसका प्रमुख उद्देश्य कीटनाशकों की विशिष्टता के निष्पादन और जोखिम तथा विनिर्माताओं द्वारा उसके प्रस्तावित प्रयोग के विषय में किए गए दावे का उसके पंजीकरण से पूर्व और उसके पश्चात सत्यापन करना है। इसके चार प्रभाग हैं, अर्थात जैव प्रभाग, रसायन प्रभाग, चिकित्सा विष-विज्ञान प्रभाग और संवेष्टन एवं परिसंस्करण प्रभाग।

कीटनाशी नियम, 1971 के नियम 5 में किए गए उल्लेख के अनुसार, केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के कार्य निम्नानुसार हैं:-

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के कार्य:

  • अधिनियम के तहत किसी अधिकारी या प्राधिकारी द्वारा इसे भेजे गए कीटनाशकों के नमूनों का विश्लेषण करना और संबंधित प्राधिकारी को विश्लेषण का प्रमाणपत्र प्रस्तुूत करना।
  • कीटनाशकों के पंजीकरण की शर्तों का अनुपालन सुनिश्चिेत करने के लिए अपेक्षित जांच करना।
  • कीटनाशकों की प्रभावोत्पातदकता तथा विषाक्त्ता निर्धारित करना।
  • ऐसे अन्य कार्य करना जो इसे केन्द्र सरकार द्वारा या राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार से अनुमति लेकर और केन्द्रीय कीटनाशी बोर्ड से परामर्श के पश्चा्त सौंपे गए हों।

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के कार्यकलाप:

  1. केन्द्रीय अथवा राज्य‍ सरकार द्वारा प्राधिकृत किसी अधिकारी अथवा प्राधिकारी द्वारा भेजे गए कीटनाशकों के नमूनों की गुणवत्ता् का सत्यापन करना।
  2. कीटनाशकों के पंजीकरण की शर्तों का सत्यापन करने की दृष्टि से कीटनाशकों की जांच करना।
  3. कीटनाशकों की प्रभावोत्पादकता तथा विषाक्तता निर्धारित करना।
  4. ऐसे अन्य कार्य करना जो इसे केन्द्र सरकार द्वारा या राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार से अनुमति लेकर और केन्द्रीय कीटनाशी बोर्ड से परामर्श के पश्चात सौंपे गए हों।

केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला (रसायन प्रभाग)

Central Insecticides Laboratory
क्र.सं. राज्य/संघ राज्य क्षेत्र प्रयोगशालाओं की संख्या स्थान लक्ष्य/प्रतिवर्ष विश्लेषण की क्षमता
1 सभी राज्य/संघ राज्य क्षेत्र 1 फरीदाबाद 1600

कार्यकलापों और उपलब्धिीयों का प्रभागवार विवरण:


  • रसायन प्रभाग
  • उद्देश्य:

    कीटनाशी नियम, 1971 के नियम 5 के तहत विनिर्दिष्ट तकनीकी-विधायी कार्यों को पूरा करना।

    कार्यकलाप:

    1. अधिनियम के तहत केन्द्रीय अथवा राज्य सरकार द्वारा प्राधिकृत किसी अधिकारी या प्राधिकारी द्वारा इसे भेजे गए कीटनाशकों के नमूनों का विश्लेषण करना और संबंधित प्राधिकारी को विश्लेषण का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना।
    2. कीटनाशकों के पंजीकरण की शर्तों का अनुपालन सुनिश्चिात करने के लिए अपेक्षित जांच करना।
    3. नए प्रारम्भ किए गए कीटनाशकों की स्वी्कार्यता हेतु विश्लेषण की पद्धतियों को विधि-मान्य करना।
    4. कीटनाशकों के संबंध में भारतीय मानक तैयार करने की सुविधा प्रदान करना।

    राष्ट्रीय परीक्षण और अंशशोधन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड (NABL) की मान्यता:

    केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला के रसायन प्रभाग को दिनांक 21 अगस्त, 2020 तक रासायनिक परीक्षण करने हेतु राष्ट्रीय परीक्षण और अंशशोधन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड से मान्यता का प्रमाणपत्र प्राप्त हो चुका है।

    उपलब्धियां:

    प्रयोगशालाओं की विश्लेषण क्षमताओं के संबंध में लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। तदनुसार, राज्य कीटनाशक परीक्षण प्रयोगशालाओं, केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला में क्रमश: कीटनाशकों की गुणवत्ता नियंत्रण से संबंधित सांख्यिकीय विवरण और राज्यों द्वारा की गई कार्रवाई का ब्योरा निम्नलिखित तालिका में दिया गया है।

    राज्य/संघ राज्य क्षेत्रों में कीटनाशी परीक्षण प्रयोगशालाएं

    PESTICIDE TESTING LABORATORIES IN STATE/UTs
    क्र.सं. राज्य/संघ राज्य क्षेत्र प्रयोगशालाओं की संख्या स्थान लक्ष्य/प्रतिवर्ष विश्लेंषण की क्षमता
    1. Andhra Pradesh 5 Guntur, Anantapur, Tadepalligudem,, Vishakhapatnam and Kurnool 5270
    2. Arunachal Pradesh 1 Naharlagun --
    3. Assam 1 Guwahati 200
    4. Bihar 1 Patna 920
    5. Chhattisgarh 1 Raipur 500
    6. Gujarat 2 Junagarh & Gandhinagar 2000
    7. Haryana 4 Karnal, Sirsa, Rohtak & Panchkula* 3300
    8. Himachal Pradesh 1 Shimla 500
    9. Jammu & Kashmir 2 Srinagar & Jammu 1100
    10. Jharkhand 1 Ranchi 500
    11. Karnataka 6 Bangalore, Bellary, Dharwad, Shimoga, Kotnoor & Mandya 6800
    12. Kerala 1 Trivendrum 2500
    13. Madhya Pradesh 1 Jabalpur 1500
    14. Maharashtra 4 Pune, Amaravathi, Thane & Aurangabad 6200
    15. Manipur 1 Mantripukhri 30
    16. Mizoram 1 Neihbawih 20
    17. Odisha 1 Bhubaneshwar 1250
    18. Puducherry 1 Puducherry 500
    19. Punjab 3 Amritsar, Ludhiana & Bhatinda 3900
    20. Rajasthan 7 Jaipur, Bikaner, Udaipur, Kota, Jodhpur, Sriganganagar & Bharatpur 3700
    21. Tamil Nadu 15 Coimbatore, Kovilpatti, Erode, Madurai, Trichy, Aduthrai, Salem, Cuddalore & Kanchipuram, Theni, Nagapattinam, Dharmpuri, Vellore, Sivaganga, Tirunelveli 21850
    22. Telangana 2 Rajendra Nagar and Warangal 3700
    23. Tripura 1 Agartala 150
    24. Uttarakhand 2 Rudrapur, Srinagar (Pauri Garhwal) 400
    25. Uttar Pradesh 4 Meerut, Lucknow (2 ) & Varanasi 7000
    26. West Bengal 1 Midnapore 650
      TOTAL 70   74440
    ख. क्षेत्रीय कीटनाशी परीक्षण प्रयोगशालाएं
    1. सभी राज्य /संघ राज्य क्षेत्र 2 1. कानपुर 1550
      2. चण्डीगढ़ 1550
    ग. केन्द्रीय कीटनाशक प्रयोगशाला (रसायन प्रभाग)
    1. सभी राज्य /संघ राज्य क्षेत्र 1 फरीदाबाद 1600
    वर्ष 2014-15 से 2018-19 के दौरान केन्द्रीय कीटनाशी प्रयोगशाला (CIL) फरीदाबाद में विश्ले्षित नमूनों के गुणवत्ता नियंत्रण से संबंधित सांख्यिीकीय विवरण:-
    QUALITY CONTROL STATISTICS OF SAMPLES ANALYSED AT CENTRAL INSECTICIDES LABORATORY (CIL), FARIDABAD DURING 2014-15 to 2018-19
    क्र.सं. राज्य/संघ राज्य क्षेत्र 2014-15 2015-16 2016-17 2017-18 2018-19
    विश्ले्षण अमानक (%) विश्ले्षण अमानक (%) विश्ले्षण अमानक (%) विश्ले्षण अमानक विश्ले्षण अमानक (%)
    1 आंध्र प्रदेश 83 57 (68.67) 29 18 (62.10) 42 25 (59.52) 47 22 (46.81) 49 18 (36.73)
    2 अरुणाचल प्रदेश - - (-) 03 02 (66.70) - - (-) - - (-) - - (-)
    3 असम - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    4 बिहार 30 22 (73.33) 09 06 (66.70) 22 11 (50.00) 06 03 (50.00) 09 02 (22.22)
    5 छत्तीसगढ़ 03 03 (100.00) 02 01 (50.00) 01 0 (0.00) - - (-) - - (-)
    6 गोवा - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    7 गुजरात 31 22 (70.96) 19 14 (73.70) 17 13 (76.47) 25 16 (64.00) 12 06 (50.00)
    8 हरियाणा 139 56 (40.29) 57 37 (64.90) 38 20 (52.63) 38 14 (36.84) 35 05 (14.28)
    9 हिमाचल प्रदेश - - (-) - - (-) 01 00 (0.00) - - (-) - - (-)
    10 जम्मू एवं कश्मीर 20 07 (35.00) 16 06 (37.50) 25 06 (24.00) 33 16 (48.48) 31 08 (25.80)
    11 झारखंड - - (-) - - (-) 01 0 (0.00) 03 01 (33.33) 03 0 (0.00)
    12 कर्नाटक 33 15 (45.45) 38 16 (42.10) 30 13 (43.33) 38 12 (31.58) 47 14 (29.80)
    13 केरल 01 01 (100.00) 03 01 (33.33) 02 0 (0.00) - - (-) - - (-)
    14 मध्य प्रदेश - - (-) 05 04 (80.00) 03 03 (100.00) 12 04 (33.33) 08 0 (0.00)
    15 महाराष्ट्र 127 58 (45.67) 213 103 (48.40) 174 64 (36.78) 149 37 (24.83) 176 32 (18.18)
    16 मणिपुर - - (-) - - (-) 01 01 (100.00) 01 0 (0.00) - - (-)
    17 मेघालय - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    18 मिजोरम - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    19 नागालैण्ड - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    20 ओडिशा 07 04 (57.14) 14 10 (71.40) 07 02 (28.57) 13 04 (30.77) 26 08 (30.77)
    21 पंजाब 89 42 (47.19) 136 76 (55.90)) 79 46 (58.23) 185 108 (58.38) 136 42 (54.56)
    22 राजस्था्न 64 30 (46.87) 71 48 (67.60) 64 42 (65.63) 49 31 (63.27) 67 24 (34.28)
    23 सिक्किम - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    24 तमिलनाडु 27 11 (40.74) 68 30 (44.10) 73 42 (57.53) 59 24 (40.68) 48 17 (35.41)
    25 त्रिपुरा - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    26 उत्तराखंड 09 03 (33.33) 01 01 (100.00) - - (-) 09 01 (11.11) 20 05 (25.00)
    27 उत्तर प्रदेश 134 63 (47.01) 118 58 (49.15) 154 57 (37.01) 131 42 (32.06) 112 23 (20.53)
    28 पश्चिम बंगाल - - (-) 03 02 (66.60) 04 03 (75.00) - - (-) 02 0 (0.00)
    29 अंडमान निकोबार द्वीपसमूह - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    30 चण्डीगढ़ 01 01 (100.00) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    31 दादरा एवं नगर हवेली - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    32 दिल्ली 03 03 (100.00) 02 01 (50.00) 02 01 (50.00) 03 02 (66.67) 07 4 (57.14)
    33 दमन एवं दीव - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    34 लक्षद्वीप - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    35 पांडिचेरी - - (-) - - (-) - - (-) - - (-) - - (-)
    36 तेलंगाना 03 03 (100.00) 09 06 (66.60) 04 02 (50.00) 04 01 (25.00) 06 01 (16.67)
      कुल योग 804 401 (49.87) 816 440 (53.90) 744 351 (47.18) 805 338 (41.99) 794 209 (26.32)
  • जैव प्रभाग
  • प्रभाग के कार्यकलाप

    कीटनाशी नियम, 1971 के नियम 5 (घ) के तहत विनिर्दिष्ट तकनीकी-विधायी अपेक्षाओं को पूरा करना।

    1. कीटनाशकों का निम्नलिखित के लिए मूल्यांकन करना:
      1. जैव-प्रभावोत्पादकता
      2. पादप-विषाक्तता
    2. गुणवत्ता- नियंत्रण के लिए जैव तकनीकों का विकास करना।
    3. गुणवत्ता- नियंत्रण पैरामीटरों पर जैव-कीटनाशकों का मूल्यांकन।
    4. सूचना/सामग्री तैयार करना और वैज्ञानिकों/विश्लेषकों को प्रशिक्षण देना।

    उपलब्धियां:

    वर्ष 2018-19 तक की विस्तृत प्रगति रिपोर्ट :

    जैव प्रभाग ने नमूनों की जैव-प्रभावोत्पादकता और पादप विषाक्तंता के लिए और पंजीकरण-पूर्व सत्यापन के लिए गुणवत्ता नियंत्रण पैरामीटरों के लिए नमूनों का मूल्यांकन किया जो निम्नानुसार है :-

    Against annual
    वर्ष क्षमता उपलब्धियां (विश्लेषण किए गए नमूनों की संख्या के रूप में)
    2005-06 60 114
    2006-07 60 143
    2007-08 60 180
    2008-09 60 209
    2009-10 60 228
    2010-11 60 268
    2011-12 60 75
    2012-13 60 77
    2013-14 60 64
    2014-15 60 75
    2015-16 60 71
    2016-17 60 63
    2017-18 60 61
    2018-19 60 32

    जैव प्रभाग में पंजीकरण-पूर्व सत्यापन हेतु परीक्षित नमूनों के विस्तृत पैरामीटर

    Progress
    क्र.सं. जैव-कीटनाशकों का नाम किए गए परीक्षणों के पैरामीटर
         
    1. Trichoderma viride &
    T. harzianum
    CFU( Colony Forming Units) Counts Antagonistic capability
        pH
        Suspensibility
        Pathogenic contaminants
         
    2. Nuclear Polyhydrous Virus(NPV) POB count
        LC50 on target insects for Potency
        Pathogenic contaminants
        pH
        Moisture content
        Suspensibility
         
    3. Pseudomonas Viable cell count
      fluorescens Antagonistic capability
        Moisture content
        Pathogenic contaminants
        Suspensibility
        pH
         
    4. Beauveria bassiana CFU’s count,
        pH,
        Moisture contents,
        suspensebility, Lc 50,
        Human Pathogenic contaminants
         
    5. Metarhizium anisopliae -do-
         
    6. Verticillium lecanii -do-
         
    7. Paecilomyces lilacinus CFU’s count,
        pH,
        Moisture contents,
        suspensebility,
        Antagonestic capacity,
        Human Pathogenic contaminants
         

    NABL Accreditation:

    The Bioassay Division of Central Insecticides Laboratory has already received the Certificate of Accreditation by National Accreditation Board for Testing and Calibration Laboratories(NABL) for Biological Testing upto 21st August, 2020.

    Pesticides Testing facilities

    The Division is maintaining cultures of filed crop pests, pests of public health importance, stored grain pests, plant pathogenic fungi and seeds of weed species for tests and trial purposes.

    Pesticides testing methods

    Standard laboratory and field testing methods are being employed for testing bio-efficacy of chemical pesticides and bio-pesticides such as poisoned medium method, poison bait method, using dusting apparatus for stomach poisons, dry films of stomach poisons on plants, residual films method, peet grady method, potters tower method and field application of pesticides and subsequent observations.

  • MEDICAL TOXICOLOGY DIVISION
  • OBJECTIVES & ACTIVITIES

    The Medical Toxicology Division evaluated 14 samples (+ 1 sample in progress) upto December, 2010 for Acute oral toxicity studies as against the Annual Capacity of 20 samples for the year 2010-11.

    Others includes

  1. Acute, Oral/Dermal LD 50 study.
  2. Toxicity/Safety evaluation of pesticides before and after introduction.
  3. Toxico-vigilance activities regarding pesticides.
  4. Training on safe use of pesticides to Farmers in FFS.
  5. Preparation of technical material on pesticide toxicity.

ACHIEVEMENTS

Detailed Progress report upto 2018-19

Acute Oral Toxicity Study (LD50):

Acute
Year Target Achievements (in terms of No. of samples analysed)
2005-06 20 20
2006-07 20 20
2007-08 20 20
2008-09 20 20
2009-10 20 15
2010-11 20 20
2011-12 20 20
2012-13 20 20
2013-14 20 20
2014-15 20 20
2015-16 20 20
2016-17 20 17
2017-18 20 20
2018-19 20 20

ACHIEVEMENTS

  1. Training imparted to about more than 700 Farmers of various villages of Haryana state covered in FFS on “Safe and Judicious use of Pesticide” during last 5 years.

  • PACKAGING AND PROCESSING DIVISION
  • BACKGROUND

    Packaging division was started functioning in 1977 to perform the duties assigned to the Division. The existing target of the Division is to analyzed 150 samples per annum. The brief information to the Division is as under:

    OBJECTIVES AND ACTIVITIES:

    Packaging division is one the four Divisions of Central Insecticides Laboratory, significant activities of the Division are as under:

    1. Pre and post registration verification of packing and labeling claims/requirements made by the manufacturers/registrants
    2. Verification/analysis of the packaging and labeling samples received under Section 5(C) of the Insecticides Rules, 1971 in the context of conditions laid down on the certificate of registration issued under Insecticides Act, 1968.
    3. R&D-Development /verification of New/Alternate safety and economic packaging devices/systems by conducting laboratory tests and field trials.
    4. Technical auditing of physic-chemical analysis of pesticides samples under Internal Technical Auditing Scheme of CIL.
    5. Technical guidance to the Bureau of Indian Standards, in formulating, updating and amending the standards of pesticides quality control, safety storage, transportation and use. Imparting training to the enforcement functionaries of States/UTs on various aspects of pesticides relating to packaging, labeling and other requirements.

    TARGET & ACHIEVEMENTS:

    The annual target of the Division is to analyze 150 samples. The target has successfully been achieved. The achievement of the Division till 2018-19 is as follows:

    target
    S.No. Year/period Annual Capacity Achievements (in terms of No. of samples analysed)
    1 2007-08 150 139
    2 2008-09 150 78
    3 2009-10 150 94
    4 2010-11 150 52
    4 2011-12 150 68
    4 2012-13 150 70
    4 2013-14 150 57
    4 2014-15 150 34
    4 2015-16 150 35
    4 2016-17 150 65
    4 2017-18 150 54
    4 2018-19 150 52