अधिदेश

टिड्डी चेतावनी संगठन, वनस्पति संरक्षण, संगरोध एवं संग्रह निदेशालय, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग को अनुसूचित रेगिस्तानी क्षेत्रों विशेष रूप से राजस्थाान और गुजरात राज्यों में रेगिस्तानी टिड्डी पर निगरानी, सर्वेक्षण और नियंत्रण का उत्तरदायित्व सौंपा गया है। भारत में विदेशी टिड्डियों के झुंड के प्रकोप को उचित नियंत्रण उपाय अपनाकर रोका जाता है। टिड्डी चेतावनी संगठन रेगिस्तानी टिड्डी सूचना केन्द्र, AGP प्रभाग, रोम, इटली द्वारा जारी कृषि खाद्य संगठन के मासिक टिड्डी बुलेटिन के माध्यम से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मौजूदा टिड्डी की स्थिति की अद्यतन जानकारी रखता है। कृषि कार्यकर्ताओं द्वारा खेतों से टिड्डी स्थि्ति पर सर्वेक्षण आंकड़े एकत्रित किए जाते हैं और उन्हें टिड्डी चेतावनी संगठन के मंडल कार्यालयों, क्षेत्रीय मुख्यालय, जोधपुर और केन्द्रींय मुख्यालय, फरीदाबाद को भेजा जाता है जहां पर उनको समेकित किया जाता है और टिड्डी के प्रकोप और आक्रमण की संभावना के अनुसार पूर्व चेतावनी के लिए विश्लेषण किया जाता है। टिड्डी की स्थिति से राजस्थान और गुजरात की राज्य सरकारों को अवगत कराया जाता है और उन्हें परामर्श दिया जाता है कि वे अपने कार्यकर्ताओं को तैयार रखें कि वे अपने क्षेत्र में टिड्डी स्थिति पर लगातार निगरानी रखें और निकटतम टिड्डी चेतावनी संगठन कार्यालय को उनके स्तर पर आवश्यक कार्रवाई करने हेतु सूचित करें।


टिड्डी सर्वेक्षण के आंकड़ों को शीघ्रता से भेजने, उनका विश्लेषण करने, कंम्यूटरीकरण के माध्यम से सर्वेक्षण क्षेत्र का खाका तैयार करने तथा e-locust2/e-locust3 और RAMSES जैसे नवीन साफ्टवेयर अपनाने के लिए टिड्डी सर्वेक्षण और निगरानी के क्षेत्र में अनेक नव-परिवर्तन किए गए हैं। /p>